🏏 इंग्लैंड के कप्तान, Jos Buttler ने की भारत 🇮🇳 की आलोचना! 😮 क्या कह गए? 🗣️World Cup 2023 Cricket News in hindi

🏏बटलर ने ‘खराब’ धर्मशाला आउटफील्ड की आलोचना की!

धर्मशाला में हाल ही में एक क्रिकेट मैच में, इंग्लैंड के जोस बटलर ने रेतीले आउटफील्ड के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की और इसे “खराब” बताया। आउटफील्ड की हालत ने विश्व कप मुकाबलों की मेजबानी के लिए इसकी उपयुक्तता पर सवाल खड़े कर दिए हैं। बटलर ने अपनी टीम से सतर्क रहने का आग्रह किया।

धर्मशाला में रेतीले आउटफील्ड ने अपनी निम्न स्थिति के कारण ध्यान आकर्षित किया है। ख़राब दिखने और रेतीला आधार होने के बावजूद, अफगानिस्तान पर बांग्लादेश की जीत के दौरान मैच अधिकारियों द्वारा इसे “औसत” का दर्जा दिया गया था। चौका बचाने के लिए गोता लगाने के दौरान मुजीब उर रहमान की घुटने की चोट ने आउटफील्ड के खतरों को उजागर कर दिया।

🏏 इंग्लैंड के कप्तान, Jos Buttler ने की भारत 🇮🇳 की आलोचना! 😮 क्या कह गए? 🗣️World Cup 2023 Cricket News in hindi

अफगानिस्तान के कोच जोनाथन ट्रॉट ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों से संपर्क करके उन्हें आउटफील्ड की स्थिति के बारे में चेतावनी दी। हालाँकि, स्वतंत्र पिच सलाहकार एंडी एटकिंसन और मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के साथ आईसीसी ने आउटफील्ड पर संतोष व्यक्त किया।

इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर ने अपनी चिंताओं को नहीं छिपाया और कहा, “मुझे लगता है कि यह खराब है।” उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि खिलाड़ियों को क्षेत्ररक्षण करते समय पीछे नहीं हटना चाहिए, क्योंकि उन्हें रन बचाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार रहना चाहिए। बटलर ने स्वीकार किया कि परिस्थितियों के अनुरूप ढलना जरूरी है लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि यह किसी भी टीम या खिलाड़ी के लिए आदर्श स्थिति नहीं है, खासकर विश्व कप मैच में।

बांग्लादेश के स्पिन-गेंदबाजी कोच रंगना हेराथ ने उल्लेख किया कि उन्होंने डाइविंग को प्रतिबंधित करने के लिए विशेष निर्देश नहीं दिए थे। वे अपने खिलाड़ियों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हेराथ ने आउटफील्ड को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए उपयुक्त मानने पर भी संतुष्टि व्यक्त की।

हालाँकि, बटलर ने खेल की अखंडता पर सवाल उठाए जब खिलाड़ियों को आउटफील्ड की स्थिति के कारण गोता लगाने और जोखिम न लेने के लिए कहा गया। उन्होंने उम्मीद जताई कि किसी भी टीम के किसी भी खिलाड़ी के साथ कुछ भी दुर्भाग्यपूर्ण नहीं होगा।

विशेष रूप से, आउटफील्ड की स्थिति के कारण भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच को पहले धर्मशाला से स्थानांतरित कर दिया गया था। बटलर ने बताया कि उन्होंने वहां जो आईपीएल मैच खेले थे, उनके दौरान आउटफील्ड अलग थी।

निष्कर्षतः, धर्मशाला की रेतीली आउटफील्ड अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चिंता का कारण बन गई है। जोस बटलर की टिप्पणियाँ खिलाड़ियों के सामने आने वाली चुनौतियों पर प्रकाश डालती हैं, जिन्हें आदर्श रूप से अपने क्षेत्ररक्षण में सहज और आश्वस्त होना चाहिए। जबकि टीमें अनुकूलन करेंगी, आउटफील्ड की स्थिति क्रिकेट की दुनिया में बहस और जांच का विषय बनी हुई है।

यह लेख जोस बटलर की चिंताओं और मौजूदा विश्व कप में खिलाड़ियों की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करते हुए इस मुद्दे पर अंतर्दृष्टि प्रदान करता है।

धर्मशाला आउटफील्ड के संबंध में जोस बटलर की चिंताओं के बारे में कुछ सारांश बिंदु (Summary Points)

  1. खराब आउटफील्ड स्थितियां: जोस बटलर ने धर्मशाला में रेतीले आउटफील्ड की आलोचना की और इसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए “खराब” बताया।
  2. सुरक्षा संबंधी चिंताएँ: आउटफ़ील्ड की स्थिति के कारण खिलाड़ी की सुरक्षा को लेकर चिंताएँ पैदा हो गईं, विशेषकर जब गहराई में गोता लगाते या क्षेत्ररक्षण करते समय।
  3. औसत रेटिंग: इसकी ख़राब उपस्थिति और रेतीले आधार के बावजूद, मैच अधिकारियों ने बांग्लादेश और अफगानिस्तान के बीच हाल ही में एक मैच के दौरान आउटफील्ड को “औसत” रेटिंग दी।
  4. मुजीब उर रहमान की चोट: आउटफील्ड की स्थिति तब उजागर हुई जब मुजीब उर रहमान ने एक चौका बचाने के लिए गोता लगाते समय अपना घुटना घायल कर लिया।
  5. इंग्लैंड के खिलाड़ियों को चेतावनी: अफगानिस्तान के कोच जोनाथन ट्रॉट ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों से संपर्क करके उन्हें आउटफील्ड की स्थिति और संभावित खतरों के बारे में सचेत किया।
  6. आईसीसी और मैच रेफरी का रुख: स्वतंत्र पिच सलाहकार एंडी एटकिंसन और मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के साथ आईसीसी ने आउटफील्ड की स्थिति पर संतोष व्यक्त किया।
  7. बटलर का दृष्टिकोण: जोस बटलर ने इस बात पर जोर दिया कि खिलाड़ियों को क्षेत्ररक्षण करते समय पीछे नहीं हटना चाहिए और आउटफील्ड की स्थिति खेल की भावना के विपरीत है।
  8. खेल की अखंडता के बारे में प्रश्न: बटलर ने खेल की अखंडता के बारे में चिंता जताई जब खिलाड़ियों को आउटफील्ड की स्थिति के कारण गोता न लगाने का निर्देश दिया गया।
  9. आईपीएल से तुलना: बटलर ने कहा कि आईपीएल मैचों के दौरान आउटफील्ड की स्थिति मौजूदा विश्व कप की स्थितियों से अलग थी।
  10. अनुकूलन: आउटफील्ड द्वारा उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद, बटलर ने स्वीकार किया कि टीमों को परिस्थितियों के अनुरूप ढलने की आवश्यकता होगी।
  11. चल रही जांच: लेख में बताया गया है कि धर्मशाला आउटफील्ड की स्थिति अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बहस और जांच का विषय बनी हुई है।

धर्मशाला आउटफील्ड के संबंध में जोस बटलर की चिंताओं के बारे में लेख से संबंधित कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

1. जोस बटलर ने धर्मशाला आउटफील्ड को “खराब” क्यों बताया?

जोस बटलर ने धर्मशाला की रेतीली आउटफील्ड की खराब स्थिति के कारण इसके बारे में चिंता व्यक्त की, जिससे खिलाड़ियों के लिए सुरक्षा संबंधी मुद्दे खड़े हो गए।

2. किस घटना ने धर्मशाला आउटफील्ड के खतरों को उजागर किया?

मुजीब उर रहमान की चोट, जहां एक चौका बचाने के लिए गोता लगाते समय उनका घुटना फंस गया था, ने आउटफील्ड की स्थिति से जुड़े जोखिमों पर जोर दिया

3. बांग्लादेश और अफगानिस्तान के बीच हाल के मैच के दौरान मैच अधिकारियों ने आउटफील्ड को कैसे रेटिंग दी?

इसके ख़राब स्वरूप और रेतीले आधार के बावजूद, मैच अधिकारियों ने आउटफ़ील्ड को “औसत” का दर्जा दिया।

4. अफगानिस्तान के कोच जोनाथन ट्रॉट ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों से संपर्क क्यों किया?

ट्रॉट ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों से संपर्क करके उन्हें आउटफील्ड की स्थिति और उनकी सुरक्षा के लिए संभावित खतरों के बारे में चेतावनी दी

5. धर्मशाला आउटफील्ड को लेकर आईसीसी और मैच रेफरी का क्या रुख था?

स्वतंत्र पिच सलाहकार एंडी एटकिंसन और मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के साथ आईसीसी ने आउटफील्ड की स्थिति पर संतोष व्यक्त किया।

Leave a Comment